This topic contains 0 replies, has 0 voices, and was last updated by  EduGorilla 2 years, 6 months ago.

  • Author
    Posts
  • #1415352 Reply
     EduGorilla 
    Keymaster
    Select Question Language :


    Directions

    निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर इस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिये:

    शिक्षा साध्‍य नहीं है, अपितु साध्‍य तक पहुँचने का एक साधन है। हम बच्‍चों को केवल शिक्षित बनाने के उद्देश्‍य से ही शिक्षा नहीं देते बल्कि हमारा उद्देश्‍य उन्‍हें जीवन के लिए सक्षम बनाना है। ज्‍यों ही हम इस तथ्‍य को जान लेते हैं हम शिक्षा के वास्‍तविक लक्ष्‍य से परिचित हो जाते हैं। बहुत से आधुनिक देशों में यह सोचना फैशन हो गया है कि अमीर-गरीब, चतुर-मूर्ख सबको विद्यालयों में नि:शुल्‍क शिक्षा देकर कोई भी समाज अपनी सब समस्‍याएँ सुलझा सकता है और परिपूर्ण त्रुटिहीन राष्‍ट्र का निर्माण कर सकता है परंतु यह काफी नहीं है। ऐसे देशों में हमें अनेक डिग्रीधारी नवयुवक बेरोजगार दिखाई पड़ते हैं, क्‍योंकि वे हाथ से काम करने को हेय दृष्टि से देखने लगते हैं। इस परिप्रेक्ष्‍य में हमें अपनी शिक्षा-व्‍यवस्‍था पर पुनर्विचार करने की बड़ी भारी आवश्‍यकता है। इतना काफी नहीं है कि शिक्षा की जो व्‍यवस्‍था पहले मिले, उसे चुन लिया जाए अथवा अपनी पुरानी शिक्षा व्‍यवस्‍था को चालू रखा जाय, बिना इस बात की परीक्षा किये और देखे कि यह वास्‍तव में उपयुक्‍त है अथवा नहीं।

    नि:शुल्‍क शिक्षा से क्‍या हानि है-

    Options :-

    1. अनेक युवक बेरोजगार रहते हैं

    2.  हाथ से कार्य करने में बुरा मानते है।

    3. केवल A

    4. उपरोक्‍त दोनों

    5. इनमें से कोई नहीं

    Post your Training /Course Enquiry
    Are You looking institutes / coaching center for
    • IIT-JEE, NEET, CAT
    • Bank PO, SSC, Railways
    • Study Abroad
    Select your Training / Study category
Reply To: Directionsनिम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर इस पर आ….
Your information:




Verify Yourself




Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account